परीक्षा परिणाम को लेकर आइसा कार्यकर्ताओं ने कुलपति कार्यालय का किया घेराव - मधेपुरा खबर Madhepura Khabar

Home Top Ad

Post Top Ad

16 जून 2022

परीक्षा परिणाम को लेकर आइसा कार्यकर्ताओं ने कुलपति कार्यालय का किया घेराव

मधेपुरा: बीएनएमयू में पीजी के दो साल का कोर्स चार साल में भी पूरा ना होने के विरोध में एवं विश्वविद्यालय में व्याप्त अराजकता, धांधली एवं भ्रष्टाचार के खिलाफ बीएनएमयू आइसा विश्वविद्यालय अध्यक्ष अरमान अली के नेतृत्व में आइसा कार्यकर्ताओं ने कुलपति सहित अन्य पदाधिकारियों को उनके चेंबर में बंद कर जमकर नारेबाजी की एवं विरोध प्रदर्शन किया. आइसा कार्यकर्ताओं ने विभिन्न कार्यालयों को बंद करवाकर कामकाज ठप कर दिया. आइसा कार्यकर्ताओं ने विश्वविद्यालय के सभी विभागों को घूम-घूम कर बंद करवाया. सभी कार्यालय पर प्रदर्शन करते हुए घेराव किया. साथ ही छात्र नेताओं ने कुलपति, कुलसचिव, परीक्षा-नियंत्रक समेत कई पदाधिकारियों को कुलपति कार्यालय आने के बाद कुलपति कार्यालय का घेराव कर सभी पदाधिकारियों को 2 घंटे तक बंधक बनाकर जमकर नारेबाजी किया. 

आइसा छात्र नेताओं ने 11 सूत्री मांग पत्र कुलपति को सौंपा. आइसा छात्र नेता विश्वविद्यालय अध्यक्ष अरमान अली ने कहा बीएनएमयू की लेट लतीफी के कारण छात्रों का भविष्य पूरी तरह से चौपट हो गया है, यहां के पीजी के 2 साल का कोर्स 4 वर्षों में अभी तक पूरा नहीं हो पाया है. बीएनएमयू में पदाधिकारियों का मनोबल काफी बढ़ा हुआ है, जिसका खामियाजा छात्रों को भुगतना पड़ रहा है. विश्वविद्यालय अध्यक्ष अरमान अली ने कहा बीएनएमयू स्नातकोत्तर के तृतीय सेमेस्टर एवं द्वितीय सेमेस्टर का रिजल्ट जल्द प्रकाशित किया जाए. साथ ही एलएलबी का परीक्षा परिणाम, B.Voc कोर्स के प्रथम वर्ष का परीक्षा परिणाम अभिलंब जारी किया जाए. बीएनएमयू मैं दीक्षांत समारोह का आयोजन जल्द किया जाए. आगामी पैट- 2021 में स्नातकोत्तर के सत्र- 2018-20 एवं सत्र- 2019-21 को हर हाल में शामिल किया जाए. 

साथी ही अरमान अली ने कहा बीएनएमयू में स्थापना काल से ही एमसीए ,एलएलएम, संगीत एवं नाट्यशास्त्र की पढ़ाई नहीं होती है जिसे जल्द शुरू किया जाए. बीएनएमयू के नॉर्थ-कैंपस में पुलिस चौकी अभिलंब स्थापित किया जाए एवं स्नातक के सभी महत्वपूर्ण विषयों में जल्द सीट वृद्धि की जाए, छात्रसंघ चुनाव जल्द करवाया जाए. विश्वविद्यालय अध्यक्ष अरमान अली ने कहा बीएन मंडल विश्वविद्यालय में भ्रष्टाचारी पदाधिकारियों का बोलबाला है. जिसको कारण छात्रों का भविष्य अधर में है एवं विश्वविद्यालय का विकास पूर्ण रूपेण ठप हो गया है. आइसा सुपौल के जिला अध्यक्ष संतोष कुमार सियोटा ने कहा विश्वविद्यालय में छात्रों का सत्र नियमितीकरण ना होने के कारण छात्र उच्च शिक्षा से वंचित हो रहे हैं एवं पीएचडी, B.Ed परीक्षा में बैठने से वंचित होते जा रहे हैं. 

मौके पर आइसा नेता पावेल कुमार ने कहा विश्वविद्यालय अगर पीजी के सत्र को जल्द नियमित करके कोर्स नहीं खत्म करती है तो छात्र संगठन आइसा आगे चलकर विश्वविद्यालय में अनिश्चितकालीन आंदोलन करेगा एवं विश्वविद्यालय के कामकाज को पूरी तरह से ठप कर देगा. मौके पर मौके मौजूद छात्र आइसा नेता पावेल कुमार ने कहा विश्वविद्यालय में एमसीए, एलएलएम की पढ़ाई नहीं होने के कारण छात्र उच्च शिक्षा से वंचित होते जा रहे हैं एवं उच्च शिक्षा हासिल करने के लिए दिल्ली कोटा राजस्थान जैसे शहरों में जाना पड़ रहा है जो काफी निंदनीय है. मौके पर आइसा के राजीव कुमार, विजय कुमार श्याम कुमार, अशोक राज, धीरज कुमार, सुनील कुमार, विनोद कुमार, आयुष कुमार, धीरज कुमार, विमलेश कुमार, मनीष कुमार, सौरभ कुमार, प्रिंस कुमार, मो. सोनू, मो. सद्दाम आदि सभी 30 से 35 छात्र मौजूद थे.
(रिपोर्ट:- ईमेल)
पब्लिसिटी के लिए नहीं पब्लिक के लिए काम करना ही पत्रकारिता है....

Post Bottom Ad

Pages